Friday, 19 August 2011

Indore - Media Action Group against corruption

वार्ड को भ्रष्टाचार मुक्त बनायेंगे 
 

वार्ड न 43 में सभी ने सवतंत्रता दिवस पर यह प्राण लिया की वे कम से कम अपने वार्ड को भ्रष्टाचार से मुक्त करने की कोशिश करेंगे वार्ड वेसे तो बहुत बड़ा है लेकिन जंहा भी हो सकेगा इस के लिए प्रयास करेगे ..............................................................................................

श्री ओझा ने बताया हमारे पड़ोसियों के बिच में किन्ही बातों को लेकर विवाद हो गया था चूँकि दोनों से ही अच्छे  सम्बन्ध थे सो वे बिच बचाव के लिए पहुच गए उन्हें जाता देख बेटा भी चला गया विवाद बढ़ने लगा तो पुलिस को बुलाया गया पुलिस ने उनके बेटे को भी पकड़ लिया बहुत समझाने पर भी वे नहीं मने ठाणे पर पहुच कर उन्होंने पड़ोसियों को तो अलग कर दिया और ओझा जी से उनके  बेटे को छोड़ने के लिए रिश्वत मांगी कांस्टेबल ने 500 रूपये लिए और तब छोड़ा तब से ओझा जी कभी किसी झगडे में नहीं पड़ते लेकिन यह मानते हैं की इसकी वजह बिच बचाव करना नहीं  था
बल्कि असली वजह  भ्रष्टाचार है  
 श्रीमति सरला देवी ने बताया की गर्मियों के अवकाश  मे कानपूर जाने के लिए ट्रेन में बेठी उन्होंने अपने 8 साल के बेटे का टिकिट नहीं लिया परन्तु उनका और उनके भाई का रिजर्वेसन था इसके वावजूद भी उन्हें टी सी के मांगने पर २०० देने ही पड़े तब आराम से सफ़र पूरा हुआ...............

No comments:

Post a comment