Monday, 1 August 2011

Dungarpur - admissions figure reached at 1580


शिक्षा से जीवन सुखमय

- सरकारी एवं निजी विद्यालयों से जुड़े 66 बच्चे
- आओ पढ़ाएं, सबको बढ़ाएं अभियान

कार्यालय संवाददाता @ डूंगरपुर
जीवन में शिक्षा की दीक्षा मिलना बहुत जरुरी है। शिक्षा से ही जीवन सुखमय और अपने लक्ष्य की ओर बढ़ता है। ये विचार राजस्थान पत्रिका और मीडिया एक्शन ग्रुप की ओर से चलाए जा रहे ‘आओ पढ़ाएं, सबको बढ़ाएं’ अभियान के तहत नवप्रवेशी बच्चों के प्रवेशोत्सव कार्यक्रम में अतिथियों ने व्यक्त किए। निजी एवं राजकीय विद्यालयों में शनिवार को 66 बच्चों को जोडऩे के साथ ही अभियान का आंकड़ा 1580 तक पहुंच गया है।

यहां हुए कार्यक्रम
 गोरादा के राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय में संस्थाप्रधान अबालाल यादव के नेतृत्व में शिक्षक अनिता रोत, गीता कटारा, सुखलाल सामलिया, दिलीप रोत, रेखा वरहात, धनेश्वर ख्रााड़ी एवं मधुबाला ने घर-घर जाकर संपर्क कर 25 बच्चों को दाखिला दिया। इस मौके पर एसएमसी अध्यक्ष खेमजी आमलिया, उपाध्यक्ष उदयलाल आमलिया ने पत्रिका के अभियान की सराहना की।
वसी गांव के लवकुश उप्रावि में संस्थाप्रधान भागचंद जैन, संरक्षक नारायण पण्ड्या, सचिव हीरालाल गामोट, सोहनलाल सेवक, धनेश्वर पण्ड्या, कांतिलाल कटारा, संस्थाप्रधान महावीरप्रसाद सेवक एवं त्रिलोक गामोट, हरीश रोत, मुकेश खटीक, नरेश नाई, रोशनी पण्ड्या, लीना व्यास, भावना सुथार की उपस्थिति में हुए कार्यक्रम में पांच बच्चों को निशुल्क प्रवेश दिया।
पिण्डावल के राउप्रावि वमासा में प्रधानाध्यापक नाथुलाल मीणा के सान्निध्य में 24 विद्यार्थियों को दाखिला दिलाया। इस मौके पर जयप्रकाश व्यास, चंद्रकांत व्यास, प्रमोद शुक्ला, विभा व्यास शामिल हुए।
रामगढ़ के हथाई के श्रीनिकेतन उप्रावि में संस्थाप्रधान गटूलाल प्रजातप, निदेशक कांतिलाल जैन, संस्थाप्रधान देवीलाल बरण्ड़ा, रामलाल डिण्डोर, लालशंकर अहारी, राजेन्द्र अहारी, गौतमलाल पाटीदार, जशोदा अहारी, विमला अहारी, वीणा अहारी के आतिथ्य में हुए कार्यक्रम में 12 बच्चों को निशुल्क प्रवेश दिया।



No comments:

Post a comment