Friday, 29 July 2011

Dungarpur - Admission figure reached at 1434

‘पढ़ेंगे, लिखेंगे, तो बनेंगे नवाब’

- विद्यालयों से जुड़े 56
- अभियान का आंकड़ा 1434
- आओं पढ़ाएं, सबको बढ़ाएं अभियान

कार्यालय संवाददाता @ डूंगरपुर

 बाल्यकाल से ही लक्ष्य तय कर मंजिल की ओर बढ़ा जाए, सफलता मिलती ही है। बच्चे बढ़ेगे, लिखेंगे, तो नवाब अवश्य बनेंगे। ये विचार गुरुवार को विभिन्न विद्यालयों में ‘आओं पढ़ाएं, सबको बढ़ाएं’ अभियान के तहत मनाए गए प्रवशोत्सव कार्यक्रम के दौरान अतिथियों ने व्यक्त किए। अधिक से अधिक बच्चों को विद्यालयों से जोडऩे के लिए राजस्थान पत्रिका और मीडिया एक्शन ग्रुप की ओर से चलाए जा रहे अभियान के तहत गुरुवार को 56 बच्चों को विद्यालयों से जोड़ा गया। अभियान का आंकड़ा 1434 तक पहुंच गया है।


यहां हुए कार्यक्रम
 साबला के राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय कनोडिय़ा में संस्थाप्रधान प्रवीण पण्ड्या के सहयोग से छह बच्चों को प्रवेश दिलाया। इस मौके पर एसएमसी अध्यक्ष हरदारिया मीणा, देवीलाल मीणा, मुरारीलाल मीणा तथा नरेन्द्र टेलर शामिल हुए। इसी क्रम में रामावि दौलपुरा में 27 बच्चों का प्रवेश दिया। संस्थाप्रधान कनकमल जैन, धुलेश्वर मीणा, अमृतलाल, मुकेश, मोतीलाल वर्मा शामिल हुए। पिण्डावल के राप्रावि रिंछा में संस्थाप्रधान ओमप्रकाश मीणा के निर्देशन में रेखा पण्ड्या व किशनलाल के सहयोग से 23 बच्चों को प्रवेश दिया।

No comments:

Post a comment