Thursday, 21 July 2011

Bhilwara - 50 children will get education in stay Home

                पहल पत्रिका की पढ़ाई पांच लाख की
ब्लर्ब.....
‘उन्हें यकीं नहीं था कि फिजां इस तरह बदलेगी और सरस्वती का आशीर्वाद उन्हें घर के आंगन में ही नसीब हो जाएगा। पढ़ाई से वंचित पीढिय़ों के बदलते परिवेश ने न सिर्फ बच्चों को शिक्षा की ओर उन्मुख किया, बल्कि अभिभावकों की रुचि ने पूरे माहौल को ही बदलकर रख दिया। जो बच्चे सुबह बिस्तर छोडऩे के साथ ही गली मोहल्लों में थैलियां बिनने से लेकर अन्य कार्यों में लग जाते थे, उनकी नींद खुलते ही अब कक्षा की ओर बढ़ रहे हैं। जल्द ही यह छोटी सी कक्षा विराट ‘स्टे हॉम’ में बदलने वाली हैं। राजस्थान पत्रिका के मीडिया एक्शन गु्रप ने इन बच्चों की तलाश कर सर्व शिक्षा अभियान को सुपूर्द किया। अभियान के अधिकारियों ने इसे गंभीरता से लेते हुए पांच लाख के खर्च वाले स्टे हॉम प्रोजेक्ट को सरकारी हरी झण्डी दिखाई।’ 
- मेग ने रच दिया इतिहास
- स्टे होम के लिए सरकार ने मंजूर किए पांच लाख रुपए

कार्यालय संवाददाता @ भीलवाड़ा. छोटी सी कक्षा और उसमें वे बच्चे पाटी और बरता लेकर कुछ लिखने में तल्लीन यह माहौल है, बंजारा बस्ती का। इस बस्ती में अधिकांश लोग अनपढ़ हैं। उन्हें पढ़ाई का महत्व जिसने समझाया वह हैं राजस्थान पत्रिका का मीडिया एक्शन ग्रुप। ग्रुप ने पहल कर इस बस्ती में पहुंच बनाई और अब यहां 8 से 16 वर्ष तक के करीब 50 से अधिक बच्चे तो स्टे हॉम में पढ़ेंगे, जबकि करीब 90 से बच्चों के लिए समीपस्थ विद्यालयों के द्वार खुल चुके है। इस स्टे हॉम में इन बच्चों पर सर्व शिक्षा अभियान प्रारंभिक शिक्षा परिषद के माध्यम से पांच लाख रुपए खर्च करेगा। स्थानीय बस्ती के किशन बंजारा और सवाराम को प्रारंभिक स्तर पर बस्ती के बच्चों को पढ़ाने का कार्य सौंपा गया है, जबकि अन्य औपचारिकता पूरी होने के बाद इन बच्चों को शिक्षण सामग्री मुहैया हो सकेगी और भोजन भी इसी परिसर में मिलेगा। न सिर्फ भोजन बल्कि रात्रि को उनके ठहरने की सुविधा भी मिलेगी। वे आरामदायक गद्दों पर आराम की नींद  लेंगे और सुबह उसी परिसर में ज्ञानार्जन करेंगे।
बढ़े हाथ तो मिला साथ
कार्यक्रम में सम्बोधि महिला मण्डल की मंजू पोखरना, अर्चना सोनी सहित सदस्य और गणेश उत्सव प्रबन्ध सेवा समिति के उदयलाल समदानी और महावीर समदानी की ओर से भी पूरे सहयोग की तैयारी की गई है। बच्चों के लिए वे भी समय-समय पर कई सुविधाएं मुहैया करवाएंगे।
मीडिया एक्शन ग्रूप ने पहल क्या कि सर्व शिक्षा अभियान के अधिकारियों ने हाथ बढ़ा दिए। इधर सुवाणा ब्लॉक के ब्लॉक शिक्षा अधिकारी के मार्गदर्शन से उनके दल ने भी पूरी शिद्दत के साथ मेहनत कर बच्चों को शिक्षा के द्वार तक पहुंचाया।
जुटे यह अधिकारी
सर्व शिक्षा अभियान के जिला परियोजना समन्वयक बीएल डीडवानियां, अतिरिक्त परियोजना समन्वयक अनिल बांगड़, संचालन समिति में ब्लॉक शिक्षा अधिकारी सुवाणा प्रहलाद पारीक, सदस्य सचिव केएल जीनगर, एसएमसी सदस्य पारस जैन, वार्डन कम शिक्षक सवाराम हैं। इस कार्य में सहायक सत्यनारायण शर्मा सहित सभी अधिकारियों ने पूरी मेहनत कर इस कार्यक्रम को गति दी हैं।
ये भी जुट गए
गु्रप की इस पहल में  
एक लाख रुपए हस्तान्तरित

इस प्रोजेक्ट को लेकर एक लाख रुपए हस्तान्तरित करने का कार्य जारी है। यह ऐतिहासिक रहेगा। पत्रिका की पहल और सर्व शिक्षा अभियान के माध्यम से हुए इस कायापलट से बस्ती के बच्चों को आंगन में पढ़ाई की पाठशाला मिल गई। सरकार दस माह के इस कार्यक्रम में पांच लाख रुपए खर्च कर रही हैं।
बीएल डीडवानियां, जिला परियोजना समन्वयक सर्व शिक्षा अभियान    
फोटो कैप्शन-- भीलवाड़ा के बंजारा बस्ती में स्टे हाम की शुरुआती कक्षाओं में पढ़ाते शिक्षक व बच्चे। पत्रिका
- बच्चे और शिक्षक

           
   

No comments:

Post a comment